How To Become An Artist In India in Hindi [Fine Artist and Commercial Artist Full Details ]

How To Become An Artist In India.

India में एक Artist कैसे बनें । 

How To Become An Artist In India [Fine Artist and Commercial Artist In Hindi]
India में एक Artist कैसे बनें । हम सभी अपने थॉट्स ऑफ़ फीलिंग को शेयर करते हैं जो ज्यादातर वर्बल कम्युनिकेशन के थ्रू होता है लेकिन आर्टिस्ट अपनी फीलिंग्स और आइडियाज को कम्युनिकेट करने के लिए आर्ट की हेल्प लेते हैं ।
 
उनकी इमैजिनेशन एक्स्ट्राऑर्डिनरी होती है और वह बहुत क्रिएटिव माइंड सेट रखते हैं अब आप यह बताइए कि क्या आपने भी ऐसी ही क्वालिटीज है क्या आप आर्ट वर्क को इतना पसंद करते हैं ।
 
इसमें अपना करियर बनाना चाहते हैं अगर ऐसा है तो आप जरूर एक आर्टिस्ट बन सकते हैं और इसके लिए आपको क्या-क्या करने की जरूरत होगी यह बताने के लिए हमने आज लेख लिखा है इसलिए ध्यान से पूरा पढ़ें।
 

आर्टिस्ट के दो कैटेगरी के बारे में ? About The Two Categories Of Artists?

 
आर्टिस्ट के दो ये कैटिगरीज है – फाइन आर्टिस्ट और कमर्शियल आर्टिस्ट
 
अब आपको यह भी पता होना चाहिए कि फाइन आर्ट्स में क्या आता है ? और कमर्शियल आर्ट्स में क्या आता है ?
 

फाइन आर्ट्स और कमर्शियल आर्ट्स में क्या आता है ?

 
फाइन आर्ट्स और कमर्शियल आर्ट्स में क्या आता है ? फाइन आर्ट्स में Painting, sculpture, illustration आते हैं जबकि कमर्शियल आर्ट में graphic design advertising Logo और book illustration आते हैं ।
 

फाइन आर्ट्स और कमर्शियल आर्ट्स का क्या काम होता है ?

 
फाइन आर्ट्स का काम होता है आर्ट्स क्रिएट करके न्यू मेथड को डेवलप करना । और इसके लिए Vivin Meeting glass blowing Paintings Drawing और Sculpting जैसे Technique की हेल्प लेने ।
 
वही कमर्शियल आर्टिस्ट का काम होता है क्लाइंट के साथ मीटिंग करके यह डिसाइड करना कि उसे किस तरह के प्रोडक्ट चाहिए,और इसके अकॉर्डिंग अपने आर्ट फॉर्म को तैयार करना । आर्टिस्ट के दो केटेगरी के बारे में सामान्य जानकारी लेने के बाद । 
 

आर्टिस्ट बनने की क्राइटेरिया के बारे में ?About The Criteria To Become An Artist ?

 

फाइन आर्ट का क्राइटेरिया क्या है ?

पहले जानते हैं फाइन आर्ट्स के बारे में अगर अब फाइन आर्ट में सर्टिफिकेट कोर्स करना चाहते हैं इसका कोई स्पेसिफिक क्राइटेरिया नहीं है हालांकि कुछ इंस्टिट्यूट मिनिमम 10th क्लास पास के गेट कैंडिडेट को इसके लिए एलिजिबल मानते हैं ।
 
डिप्लोमा और बैचलर डिग्री कोर्स की बात करें ऐसे स्टूडेंट जो 12th क्लास पास कर लीए है वह फाइन आर्ट में डिप्लोमा और बैचलर डिग्री के लिए अप्लाई कर सकते हैं ।
 
कुछ इंस्टीट्यूट पेंटिंग और ड्राइंग जैसी क्रिएटिव टेस्ट लेने के बाद इन कोर्सेज में एडमिशन देते हैं पीजी डिप्लोमा और मास्टर डिग्री कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपके पास फाइन आर्ट्स में बैचलर डिग्री होनी चाहिए 
 
इनमें आपकी मिनिमम 50% मार्क्स होने जरूरी है इसके बाद कुछ कॉलेज मेरिट बेस पर तो कई कॉलेज रिटन टेस्ट के बेस पर एडमिशन देते हैं तो फाइनल क्राइटेरिया के बाद अब आगे जानते हैं ।
 

कमर्शियल आर्ट का क्राइटेरिया क्या है ?

 
कमर्शियल आर्ट का क्राइटेरिया क्या है अब कमर्शियल आर्ट कोर्स में अपनी इन क्वालिफिकेशन अकॉर्डिंग सर्टिफिकेट डिप्लोमा बैचलर डिग्री कोर्स और पोस्टग्रेजुएट कोर्से में एडमिशन ले सकते हैं ।
 
अगर अब नहीं 10th क्लास पास कर रखे हैं आप किसी भी स्ट्रीम से ट्वेल्थ पास कये हो हालांकि आर्ट सब्जेक्ट को Preference दी जाती है
 
आपने आर्ट में डिप्लोमा या बैचलर डिग्री कंप्लीट कर लिए हैं । डिग्री कोर्सेज में एडमिशन के लिए रुचि परीक्षण भी conduct किए जाते हैं ।
 

आर्टिस्ट बनने के लिए । To Become An Artist.

 
आर्टिस्ट बनने के लिए formal course के अलावा जिन स्किल्स की जरूरत होती है वह है क्रिएटिविटी कम्युनिकेशन स्किल्स critical thinking नेटवर्किंग स्किल टेक्नोलॉज फैशन हार्ड वर्क डिसिप्लिन स्किल्स प्रेजेंटेशन स्किल्स स्केचिंग स्किल्स और आर्टिस्टिक स्किल्स ।
 

आर्ट्स के लिए इंडिया के बेस्ट कॉलेज का नाम ?

 
अब आपको बताते हैं इंडिया के ऐसे बेस्ट कॉलेजेस के नाम जहां से आप फाइन आर्ट और कमर्शियल आर्ट में कोर्सेस कर सकते हैं ।
 
  • School Of Music Mumbai
  • Natya institute of kathak& choreography Bangalore
  • The Indian College arts & draftsmanship kolkata
  • Govt. College of Fine Arts Thrissur 
  • Institute of Fine Arts varanasi
  • Tansen Sangeet Mahavidhyalaya Delhi
  • Bengal music collage kolkata
  • SIR J.J. institute of applied arts mumbai
  • Nims University Jaipur
  • Amitry University Lucknow
 

फाइन आर्ट्स और कमर्शियल आर्ट्स की फीस ।  Fine Arts And Commercial Arts Fees.

 
वैसे जहां तक फीस की बात है यहां पूरी तरह से आपके कार्स और उस कॉलेज पर डिपेंड होगी जहां पर अप्लाई किया है
 
फिर भी अंदाजे के तौर पर आपको बता सकते हैं बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स एवरेज कोर्स फी 85000 से 6 लाख रुपए तक हो सकती हैं और B.F.A Commercial Art एवरेज कोर्स फीस 1 लाख रूपये तक हो सकती है ।
 

एक आर्टिस्ट के लिए जॉब की भूमिका । Job Role for an Artist.

 
एक आर्टिस्ट के तौर पर मिलने वाले जॉब ऑप्शन की बात करें तो अपने कोर्स के अकॉर्डिंग इनमें से सूटेबल जॉब role चॉइस कर सकते हैं
 
  • ‍ Illustration
  • Cartoonist
  • Graphic Artist
  • Art Directors
  • Jewelry Artist
  • Tattoo Artist
  • Sculptures
 
एक आर्टिस्ट को मिलने वाले एंप्लॉयमेंट सेक्टर के बारे में जाने तो आप बहुत से ऐसे एरियाज में काम कर सकते हैं 
 
जैसे :- Art Studios, Publishing Houses, Freelance Project, Advertising Company, Photography, Fashion, Houses Manufacturing Form, Teaching, Television, Multinational Company, Corporate Business etc.
 

आर्ट्स जॉब की सैलरी के बारे में । About Salary Of Arts Job. 

 
फाइन आर्ट्स और कमर्शियल आर्ट फील्ड में मिलने वाली शुरुआत के एनुअल सैलेरी 2 लाख 85 हजार रूपये तक हो सकती है
 
एक ग्राफिक आर्टिस्ट को फ्रेशर के तौर पर 1 लाख 20 हजार, फोटोग्राफर की स्टार्टिंग के सैलरी 1लाख 22 हजार और इलस्ट्रेटर को मिलने वाली सैलरी 1 लाख 20 हजार रुपए हो सकती है।
 
तो दोस्तों यह सैलरी आपके अंदाजे के लिए है लेकिन आपको यह भी पता होना चाहिए कि इन सब में सैलरी का अमाउंट बढ़ सकता है
 
और यह आपके टैलेंट पर बहुत हद तक डिपेंड करता है ज्यादा से ज्यादा आर्ट्स लवर को अपने आर्ट् से आकर्षित करने की कोशिश करे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Low Carbohydrate Diet FIFA World Cup Battlefield mobile video game