IAS aur DM mein kaun bada hai.DM aur IAS mein kya antar hai.

IAS aur DM mein kaun bada hai.

IAS aur DM mein kaun bada hai.DM aur IAS mein kya antar hai.
IAS aur DM mein kaun bada hai DM aur IAS mein kya antar hai.

आईएएस और डीएम में कौन बड़ा है ?

आईएएस और डीएम में कौन बड़ा है ? यह सवाल हर एक UPSC Exam देने वाले छात्र के मन में होता है कि IAS aur DM में कौन बड़ा है ?

आज इस लेख में आपको विस्तार से समझाएंगे कि आईएएस और डीएम में कौन बड़ा है ? और आईएएस और डीएम के बीच अंतर को भी समझाएंगे ।

अगर आप IAS में सिलेक्ट होते हैं तो आप 4 साल बाद Promote होकर DM बन जाएंगे, अर्थात IAS का पहला promotion पोस्ट DM है ।

इससे आप समझ सकते हैं, आईएएस और डीएम में कौन बड़ा है ? यह दोनों पोस्ट अपने अपने कार्य क्षेत्र में बड़ा है । IAS aur DM में DM बड़ा पोस्ट होता है।

IAS aur DM में क्या अंतर है?

IAS एक सर्विस का नाम है जिसे Indian Administrative Service हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहते हैं ।

और जो डीएम होता है वह एक पोस्ट का नाम है जिसे District Magistrate या जिला अधिकारी कहते हैं।

दोस्त UPSC Exam होता है जिसमें जो अच्छी रैंक लाते हैं तो उसे IAS की पोस्ट दी जाती है । फिर पोस्ट को DM में Promote किया जाता है जो IAS के एक सर्विस का नाम है।

अगर एसडीएम होगा। उसे भी हम IAS officer कहेंगे। डीएम होगा IAS officer कहेंगे और जो बड़ा अधिकारी जैसे मुख्य सचिव Chief Secretary हो गया। उन्हें भी हम IAS officer कहेंगे।

DM, SDM, Chief Secretary यह सब जो है, वह पोस्ट का नाम है जैसे अगर Example दूं तो जो लोग Police में होते हैं

वहां एक सर्विस है। उसमें कोई लोग होते हैं। SI, ASi, Inspector एक पोस्ट और पुलिस एक सर्विस है।

उसी तरह से IAS सर्विस का नाम है और उसके अंदर जो है। DM, SDM, Chief Secretary etc. के सभी पोस्ट हैं।

IAS aur DM का क्या काम होता है ।

डीएम का क्या काम होता है ।

जिस तरह से IAS, DM etc. सब एक जैसे ही है उसी प्रकार से इन सब का काम भी लगभग एक जैसा ही होता है ।

DM जिले का प्रभारी अधिकारी होता है जो कि अपने ऑफिस के साथ-साथ फील्ड(बाहर) में भी कार्य करता है, DM अपने जिले के अंदर कार्य व्यवस्था को संभालता है ।

जिले में पुलिस प्रशासन व्यवस्था DM के अंदर ही काम करता है DM जिले में जिस भी चीज की चाहे उसकी इंक्वारी करवा सकता है, उसके लिए उच्च अधिकारियों से बात करके और लॉ एंड ऑर्डर भी ला सकता है।

वह जिले में किसी भी विभाग चाहे वह जल विभाग को बिजली विभाग, स्वास्थ्य विभाग, कृषि विभाग आदि किसी भी विभाग के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है।

मौके पर जाकर उसका मुआयना भी कर सकता है और कहीं पर कोई किसी तरह की गड़बड़ी पाए जाने पर अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई भी कर सकता है।

जिले में चल रहे सभी तरह के छोटे बड़े कार्यो की जानकारी लेना, उनका निरीक्षण करना किसी भी सरकारी ऑफिस स्कूल अस्पताल आदि कहीं भी जाकर वहां की कार्यों का मुआयना कर सकता है।

उनके पुराने रिकॉर्ड चेक कर सकता है। कहीं पर कोई गलती पाई जाती है तो उनके खिलाफ कार्रवाई भी कर सकता है

सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजनाओं का निरीक्षण करना, कहीं कोई सरकारी निर्माण कार्य चल रहा वहां पर लाए जाने वाले सामानों की जांच करना।

इसके साथ ही लोगों की समस्याएं सुनना उनका समाधान करना। उसके लिए उचित कदम उठाना दोस्तों के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश देना,

जिले में किसी तरह की कोई प्राकृतिक आपदा आ जाने पर मौके पर पहुंचकर उसका निरीक्षण करना और पीड़ितों को सहायता प्रदान करवाना।

यह सभी जो कार्य हैं वह एक DM करता है इसके अलावा भी बहुत सारी ऐसी कार्य हैं जो DM संभालते हैं ।

IAS ka kya kaam hota hai.

जैसा कि मैं आपको पहले ही बता चुका हूं कि IAS aur DM etc. सब एक जैसे ही है उसी प्रकार से इन सब का काम भी लगभग एक जैसा ही होता है।

एक IAS अधिकारी भारत सरकार के पूरे विभागों और मंत्रालयों का नेतृत्व करते हैं। आईएएस अधिकारी संसद में बनने वाले कानून को अपने इलाकों में लागू करवाते हैं साथ ही नई नीतियां या कानून बनाने में भी अहम योगदान निभाते हैं।

अलग-अलग जिले और राज्यों में IAS aur DM की कार्यों में बदलाव हो सकता है क्योंकि यह सरकार और सिचुएशन पर निर्भर होता है लेकिन मैंने आपको जो बताए हैं वह एक सामान्य कार्य है जो हर एक IAS aur DM काम करते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Low Carbohydrate Diet FIFA World Cup Battlefield mobile video game