ट्रेन में आरएसी क्या है । What is rac in train.

What is rac in train.

ट्रेन में आरएसी क्या है । What is rac in train.

दोस्तों train में बुकिंग के टाइम पे normally तीन तरह की टिकट होती है confirm, waiting और तीसरी होती है आरएसी टिकट, जिसकी फुल फॉर्म होती है

“Reservation Against Cancellation ( RAC )” एक खास तरह की टिकट होती है जिसमे आपको एक तरह से आधी सीट मिलती है।

यानी आप train में बैठ तो सकते हैं लेकिन आपको सोने वाली पूरी सीटें किसी दूसरे व्यक्ति के साथ शेयर करनी होती है।

जैसे ही confirm सीट पर आप आसानी से सो सकती है, वैसे आरएसी टिकट पर आपको एक दूसरी यात्री के साथ सीट शेयर करनी होती है।

इसके अलावा आरएसी टिकट धारकों को confirm सीट के लिए प्राथमिकता दी जाती है। train चलने के बाद अगर कोई वर्थ खाली है तो टीटीई आपको या आपके साथ वर्थ पर यात्रा करनेवाले यात्री को एक खाली वर्थ दे सकता है।

RAC क्या है ? विस्तार से समझाएं

“Reservation Against Cancellation ( RAC )” इस नाम से आपको क्या पता चलता है वो मैं आप लोगों को बता देना चाहता हूँ। देखिये दोस्तों इसमें RAC में क्या होता है

कि आपको सीट तभी मिलेगा यानी की आपका सीट जो है उसको वो तभी कन्फर्म किया जाएगा जब कोई भी बंदा जिसका ऑलरेडी कन्फर्म हो चुका है, अगर वो बंदा अपना टिकट कैंसिल कर देता है,

जिसका ऑलरेडी कन्फर्म था तो आपका सबसे पहले वो कन्फर्म किया जायेगा। आप लोगों को अच्छे से समझने के लिए मैं एक example दे देता हूँ। मान लेते हैं

लेकिन उसको सबका थोड़ी ना कैंसिल हो जाएगा और सब का सब RAC वाले का थोड़ी ना सीट मिल जायेगा ऐसा तो पॉसिबल है। नहीं तो मान लेते है आपका जो RAC है

दोस्तों आपको जब आपने टिकट बुक किया वहा पे आपको RAC 30 मिला था लेकिन कैंसिल होते होते होते होते लास्ट टाइम जब आ गया यानी की चाट प्रिपेर हो गया तब तक आपका RAC 15 में या फिर RAC 10 में आ के अटक गया।

RAC में आप ट्रैवल कर सकते हैं?

अब क्या होगा अब यहाँ पे लोगों को डाउट आ जाता है की मेरा RAC है तो हम ट्रैवल नहीं कर सकते हैं। RAC हैं तो मेरा टिकट कैंसिल करना पड़ेगा, टिकट कैंसिल हो जायेगा,

हम यहाँ पे traveling नहीं कर सकते हैं। विज़िबल नहीं है लेकिन दोस्तों यहाँ पे भी आप लोगों को भी घबराना नहीं है कि RAC में दोस्तों अगर आपका RAC और आपको कुछ आपको digit दिख रहा है की RAC आपको 15 मिला है या फिर RAC आपको 30 मिला है तो भी आप एलिजिबल हैं।

आप ट्रैवल कर सकते है कैंसिल नहीं करना आपको टिकट ठीक है RAC अगर आपका 15 भी हो जाता है मान लेते हैं चार्ट प्रेपेर हो गया आपको 4 घंटे 5 घंटे बाद आपका train है

और आपका RAC 15 अगर है तो उसको फिर भी आप एलिजिबल है लेकिन वहाँ पे यही होता है की वहाँ पे एक जो लोअर वर्थ का साइड लोअर वर्थ का जो सीट होता है।

तो जहाँ पे दो सीट होता है वो आपको अलॉट कर दिया जाएगा। लेकिन वहाँ एक बात रहती है। एक कंडीशन होता है की वो जो अलॉटमेंट होता है तो उसको सीट का उसमें दो लोगों को एडजस्ट किया जाता है। यानी की दो RAC वालों को एक सीट दे दिया जाता है।

जो की साइड लोअर होता है, खिड़की के पास उसमें दो सीट होता है दोस्तों और दो आदमियों को वो अलॉट कर दिया जाता है। यानी की एक आरएसी टिकट जो है दोस्तों वो एक साइड बैठेगा,

दूसरा RAC वाला दूसरा साइड बैठेगा तो उनको RAC इसलिए बोला जाता है क्योंकि उनको हाफ वर्थ दिया जाता है और वो ट्रैवल कर सकते हैं।लेकिन वही पूरा वर्थ नहीं मिलेगा।

हाफ वर्थ आपको मिलेगा और उसी में एडजस्ट करके आपको जाना पड़ेगा। तो यहाँ से ये क्लियर हो गया की RAC वालों को घबराना नहीं है। उनका ट्रैवलिंग जो है वो कैंसिल नहीं होगा,

वो ट्रैवल कर सकते हैं। ईजली इसमें कोई दो राय नहीं है। अब 10 तो बहुत लोगो को ये भी डाउट आता है की जो मुझे सीट मिला है वो पूरा सीट मेरा है तो आपको ऐसा नहीं सोचना है तो उसको अगर आपको RAC मिला है तो बस आप हाफ सीट के ही हकदार है।

अगर बगल वाला कोई आ के बोलता है की ये सीट मेरा भी है तो उसे भी आपको एडजस्ट करना पड़ेगा क्योंकि उसको भी वही टिकट में लिखा रहेगा की आपको इस सीट में जा के बैठना है और आप यहाँ पे अगर झगड़ा करने लगेंगे की ये सीट तो मेरा है।

देखो टिकट में लिखा है तो वैसा आपको नहीं करना हैं। ऋषि का मतलब होता है की हाफ सीट उसको यहाँ पे आपको बैठने देना होगा और दोनों को अजस्ट करके ही आपको जाना होगा।

मान लेते हैं जहाँ से जीस स्टेशन से रेल चलने वाली है, खुलने वाली है वहाँ पे दो बंदे आके RAC में बैठ गए दोनों दोनों बंदे बैठ गए। मान लेते हैं उसको 1000 किलोमीटर जाना है ट्रेन को और जो आपका जो साथी हैं

यानी की, जिससे आपै जस्ट करके मतलब यहाँ पे आपने शेयर किया हुआ है अगर वो बंदा 500 किलोमीटर्स जाके उसका स्टेशन आ जाता है और वो उतर जाता है उसके बाद जो अगला जो 500 किलोमीटर रहेगा

दोस्तों यानी की आधी दूरी में अगर कोई उतर जाता है आपका साथ ही जो आपके साथ वहाँ पे सीट शेयर कर रहा था, अगर वो आधे दूरी में उतर जाता है तो वो जो पूरा होगा दोस्तों वो आपका होगा।

ये बहुत लोगों को पता नहीं होता है और वो पूरी जर्नी जो है। दोस्तों आधे सीट में ही कर देते हैं और उसका जो बगल वाला है वो कब का उतर चुका होता है तो आपको ऐसा नहीं करना है।

RAC में अगर आपका टिकट है दोस्तों तो मान लेते है आपका आप जिससे शेर कर रहे हैं आपका जो मतलब की दोस्त है या फिर जो भी है जिसके साथ आप शेयर कर रहे हैं अपना सीट यानी की उसका भी RAC है।

उसी सीट में तो वो जब उतर जाता है तो उसका जो आगे वाला जो होगा दोस्तों, उसके लिए पूरा का पूरा सेट आपका है। यानी की जब वो उतर जाएगा उसका जब स्टेशन आ जायेगा उसके बाद से आपका उस सीट पे पूरा का पूरा अधिकार है।

अब बात आता है दोस्तों की यार को कैसे कन्फर्म किया जाए तो ऐसा दोस्तों कोई रामबाण तो है नहीं की आप ये आरएसी टिकट को डायरेक्ट कन्फर्म कर देंगे।

ऐसा नहीं है जब जब ये कैंसिल होगा दोस्तों तो आपका जो पहला वाला जो है वो आएगा, फिर कोई कैनसल करेगा तो दूसरा वाला क्या होगा? फिर कोई और कैंसल करेगा तो तीसरा वाला कन्फर्म होगा।

इस टाइप से ये कन्फर्म होता है। इसलिए कोई भी यहाँ पे रामबाण नहीं है की आपको इस ट्रिक के बारे में बता दिया तो आपने स्ट्राइक को फॉलो किया आपका आरएसी टिकट कन्फर्म हो जायेगा।

ऐसा नहीं है वो दोस्तों अभी अभी आप लोगों को मैंने यही बताया कि What is rac in train. RAC में आप ट्रैवल कर सकते हैं कि नहीं कर सकते हैं और आरएसी टिकट कन्फर्म कैसे करेंगे? कैसे होता है?

क्या होता है हम ट्रैवल कर सकते हैं कि नहीं कर सकते हैं सारा डाउट आज के इस Article के थ्रू आप लोगों का क्लियर हो गया होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Low Carbohydrate Diet FIFA World Cup Battlefield mobile video game